ट्रांसजेंडर राजकुमारी बनी लोगों के लिए मिसाल, अपनी आय का 75% हिस्सा गरीबों को कर रही दान

New Delhi: हर मां-बाप अपने बच्चे को लेकर काफी चिंता में रहते हैं। उनकी ये चिंता तब और बढ़ जाती है जब उन्हें पता चलता है कि उनका बच्चा दूसरे आम बच्चों की तरह नहीं है बल्कि एक ट्रांसजेंडर है। इस देश में ट्रांसजेंडर्स का सबसे ज्यादा बुरी हालत है।

बच्चे के ट्रांसजेंडर होने का पता चलते ही अक्सर माता-पिता उससे अपना रिश्ता तोड़ देते हैं और उन्हें किन्नर समुदाय के बीच छोड़ आते हैं। ऐसा ही कुछ राजकुमारी के साथ हुआ। उन्हें भी उनके माता-पिता ने घर से बाहर निकाल दिया था, लेकिन राजकुमारी ने हार नहीं मानी सभी हालातों से लड़कर अपनी अलग पहचान बनाई।

आज के समय में राजकुमारी गरीब और असहाय लोगों की मदद करती हैं। वो अपनी आमदनी का 75 प्रतिशत हिस्सा गरीबों में दान करती हैं। यही नहीं, उन्होंने अनाथ बच्चों को गोद लिया है, जिनका वो पालन-पोषण करती हैं। राजकुमारी एक ट्रांसजेंडर हैं। उनकी उम्र 55 साल है।

वो झारखंड के बोकारो के रितुडीह इलाके में रहती हैं। राजकुमारी जब 10 साल की थी, तब उनके माता-पिता ने उन्हें परिवार का कलं’क बताकर उन्हें छोड़ दिया था। उन्हें अपने समुदाय के क्रो’ध का भी सामना करना पड़ा। विरोध करने पर उनकी पि’टाई की जाती थी।

इन सब से परेशान होकर राजकुमारी ने अकेले जीना सीखा और धीरे-धीरे कर अपने पैरों पर खड़ी हुई। राजकुमारी हमेशा से ही गरीब और असहाय लोगों की मदद करती थी। वो नहीं चाहती थी कि जैसे उनका बचपन बिता है, वैसा जीवन कोई और बिताए। उन्होंने अनाथ बच्चों को गोद भी लिया।

राजकुमारी की पांच बेटियां और तीन बेटे हैं, जो उन्हें ‘मम्मी’ कहते हैं। राजकुमारी ने सभी पांच लड़कियों की शादी करवा दी और अब राजकुमारी अपने बेटों के साथ सुखी से रहती है। आपको बता दें कि राजकुमारी ने 50 से ज्यादा जोड़ों को शादी करवाने में मदद की है। वह अपनी आय का एक बड़ा हिस्सा सामाजिक सेवाओं पर खर्च करती है। अगर कोई भी मदद के लिए उसके पास जाता है, तो वे कभी भी खाली हाथ नहीं लौटते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *