प्रवासियों ने कहा असाधारण काम किया, सोनू बोले- मेरे पास ताकत होती तो किसी को पैदल चलने न देता

New Delhi: एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) की निस्वार्थ सेवा भाव देखकर आज उनके काम को हर कोई असाधारण बता रहा है. सोनू सूद ने जिस तरह से आगे बढ़कर प्रवासियों (Migrant) की मदद की वो मजदूरों के मसीहा बन गए. सोनू सूद आज लाखों-करोड़ों दिलों में राज कर रहे हैं. एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में सोनू सूद ने कहा कि- प्रवासियों को घर भेजकर जो खुशी मिली है, उसे शब्दों में बयां करना मुश्किल है.

सोनू सूद अनलॉक में भी प्रवासियों को घर पहुंचाने का जिम्मा उठाए हुए हैं. कहते हैं- जब तक आखिरी प्रवासी को घर नहीं पहुंचा देता, तब तक काम करता रहूंगा. वहीं, जिन लोगों को सोनू सूद ने घर भेजा है, उन्होंने सोनू के काम को असाधारण काम बताया है. उनका कहना है कि इस तरह के निस्वार्थ भाव से दिन रात लगाकर प्रवासियों की मदद करना, खुद की चिंता छोड़कर सड़क पर उतरकर लोगों की सेवा करना कोई फरिश्ता ही कर सकता है.

खुद के काम को असाधारण काम सुनकर सोनू सूद ने कहा कि- मेरे पास ताकत होती तो किसी को पैदल चलने नहीं देता. कोरोना काल के बाद जो दुनिया होगी वो और बेहतर होगी. मैं जब लोगों को पैदल चलते देखा तो बहुत दुख हुआ, अगर मैं उनकी मदद नहीं करता तो और अधिक दुख होता. मैं खुद प्रवासी हूं, एक्टर बनने के लिए मुंबई एक प्रवासी बनकर ही आया था. इसलिए इनका दर्द समझ सकता हूं.

वहीं, सोनू सूद ने इंटरव्यू में सुशांत सिंह राजपूत पर भी सवाल पूछे गए. इस पर उन्होंने कहा कि- इस घटना से बहुत सारे लोगों का विश्वास टूटेगा लेकिन हमें टूटने नहीं देना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *